Javascript Required जानवरों के दत्तक ग्रहण के अवसर - वन एवं वन्य जीव विभाग उत्तर प्रदेश

वन एवं वन्य जीव विभाग,

उत्तर प्रदेश सरकार, भारत

पशु दत्तक ग्रहण के अवसर

लखनऊ चिड़ियाघर में जानवरों का दत्तक ग्रहण

जानवरों को गोद लेने की एक स्कीम लखनऊ चिड़ियाघर में शुरू की गयी है।यह काफी महत्वपूर्ण है कि, किसी के लिए भी लखनऊ चिड़ियाघर के प्रयासों का समर्थन करके वन्य जीव संरक्षण के प्रति दृढ़ प्रतिबद्धता दिखाने के लिए एक शानदार तरीका है।यह एक योजना है जिसमें लोग एक जानवर चुन सकते हैं; उसका "दत्तक ग्रहण करके," एक निश्चित समय अवधि के लिए उसके भोजन और रखरखाव के लिए आवश्यक खर्चों योगदान कर सकते हैं। किसी विशेष जानवर के दत्तक ग्रहण की लागत उस विशेष पशु के नियमित टीकाकरण और उपचार के लिए आवश्यकता हो सकने वाली अस्थायी राशि सहित उसके आहार अनुसूची के अनुसार भोजन और अन्य मदों की खरीद के लिए स्वीकृत दर के आधार पर तैयार की जाती है।

योजना की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं
क्र.सं. शीर्षक
1. लखनऊ चिड़ियाघर में पशुओं के दत्तक ग्रहण में लखनऊ चिड़ियाघर के किसी भी जानवर को केवल खिलाने और उसके स्वास्थ्य के लिए किया जाने वाला व्यय शामिल है।
2. कोई प्रमाणिक वास्तविक व्यक्ति / संगठन, लखनऊ चिड़ियाघर के किसी जानवर को गोद ले सकता है।
3. चिड़ियाघर प्राधिकरण चिड़ियाघर के किसी जानवर को गोद लेने के लिए किसी भी व्यक्ति / संगठन के प्रस्ताव को कोई कारण बताए बिना स्वीकार या अस्वीकार करने का अधिकार सुरक्षित रखता है।
4. गोद लेने वाले को एक वर्ष की न्यूनतम अवधि के लिए जानवर को गोद लेना होगा।
5. गोद लेने वाले को गोद लेने की अवधि के दौरान चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा निर्धारित किए गए के अनुसार, जानवर के भोजन के लिए और जानवर के स्वास्थ्य देखभाल की पूरी लागत वहन करनी होगी।
6. चिड़ियाघर प्राधिकरण एक निर्दिष्ट अवधि के लिए एक विशेष जानवर को गोद लेने की लागत को तैयार करेगा जो एक वर्ष से कम नहीं होगा।
7. गोद लेने वाले को गोद लेने की अवधि से पहले जानवर को गोद लेने के लिए आवश्यक राशि का योगदान करना होगा।
8. गोद लेने वाले का नाम, उसकी सहमति के साथ गोद लिए गए पशु को प्रदर्शित किये जाने वाले बाड़े में प्रदर्शित किया जाएगा।
9. गोद लेने वाले को प्रवर्तित कानून और लखनऊ चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा समय-समय पर निर्धारित निबंधनों व शर्तों का पालन करना होगा।
10. जानवर की अचानक मौत / निस्तारण / विनिमय के मामले में गोद लेने वाले व्यक्ति के पास लखनऊ चिड़ियाघर प्राधिकरण के साथ चर्चा के बाद शेष अवधि के लिए अन्य जानवर को गोद लेने का विकल्प होगा