Javascript Required पारिस्थितिकी तंत्र - वन एवं वन्य जीव विभाग उत्तर प्रदेश

वन एवं वन्य जीव विभाग,

उत्तर प्रदेश सरकार, भारत

पारिस्थितिकी तंत्र

ठोस लाभों के अलावा वन एवं वन्य जीव विभाग अनेकों पारिस्थितिकी तंत्र सेवाएं प्रदान करता है जिन्हें आसानी से पाया जा सकता है। जंगल निम्न पारिस्थितिकी तंत्र सेवाएं प्रदान करते हैं जो इस ग्रह पर जीवन संभव बनाते हैं और इसे निम्न रूप में परिभाषित किया जा सकता है:

"वे दशाएं और प्रक्रियाएं जिनके माध्यम से प्राकृतिक पारिस्थितिक तंत्र और प्रजाति बनाये रखते हैं और मानव जीवन को पूर्ण करते हैं।"


प्रमुख पारिस्थितिकी तंत्र सेवाएं, जो उत्तर प्रदेश वन एवं वन्य जीव विभाग अपने जंगलों के माध्यम से प्रदान करता है, को निम्न प्रकार सूचीबद्ध किया जा सकता हैः

वनों द्वारा प्रदान की जाने वाली प्रमुख पारिस्थितिकी तंत्र सेवाएं:
क्र.सं. सेवाएं अवसंरचना और प्रक्रियाएं वस्तुएं और सेवाएं
प्रावधानन सेवाएं प्राकृतिक संसाधनों का प्रावधान।
1 भोजन खाद्य पौधों और जानवरों में सौर ऊर्जा का रूपांतरण। मछली का शिकार, फल आदि, छोटे पैमाने पर निर्वाह कृषि और मत्स्यपालन
2 कच्चा माल मानव निर्माण और अन्य उपयोगों के लिए सौर ऊर्जा का बायोमास में रूपांतरण। ईंधन और ऊर्जा, चारा और उर्वरक, भवन और विनिर्माण।
3 आनुवंशिक संसाधन जंगली पौधों और जानवरों में आनुवंशिक सामग्री और विकास। रोगज़नक़ों और कीटों के प्रति फसल प्रतिरोध में सुधार।
4 औषधीय संसाधन प्राकृतिक बायोटा के विभिन्न (जैव) रासायनिक पदार्थों, और, अन्य औषधीय उपयोग। औषध, फार्मास्यूटिकल्स, रसायन मॉडल, उपकरण, परीक्षण और परीक्षण जीव।
5 सजावट संसाधन (संभावित) सजावटी उपयोग के साथ बायोटा की विविधता मैं प्राकृतिक पारिस्थितकी तंत्र। फैशन, हस्तकला, गहने, पालतू जानवर, पूजा, सजावट और स्मृति चिन्ह के लिए संसाधन।