Javascript Required वन्य जीव - उत्तर प्रदेश वन एवं वन्य जीव विभाग

वन एवं वन्य जीव विभाग,

उत्तर प्रदेश सरकार, भारत

वन्य जीव सेवाएं

उत्तर प्रदेश में पर्यावरण पर्यटन को बढ़ावा देना

राज्य में पर्यावरण पर्यटन को मजबूत बनाने के लिए नई परियोजनाएं शुरू की गई हैं। पर्यावरण पर्यटन सुविधाएं दुधवा नेशनल पार्क, कतरनिया घाट और दुधवा बाघ रिजर्व के किशनपुर अभयारण्य में उन्नत की जा रही हैं।पर्यावरण पर्यटन सुविधाओं को सोहेवाला वन्यजीव अभयारण्य, गोंडा के टिकरी वन, राष्ट्रीय चंबल अभयारण्य, उन्नाव में नवाबगंज अभयारण्य और कन्नौज में लाखबहोसी अभयारण्य में भी मजबूत किया गया है।पर्यावरण पर्यटन सुविधाओं को श्रावस्ती में सिताद्वार, वाराणसी में सारनाथ, इटावा में सरसैनावार में भी मजबूत किया जा रहा है।

इससे राज्य में पारिस्थितिकी पर्यटन को बढ़ावा देने में सहायता मिली है। आगंतुक उन्नत पर्यटन सुविधाओं जैसे कि आवास, क्षेत्र अवसंरचना जैसे कि घड़ी टावर और दृश्य शेड, साइकिल मार्ग, पैदल मार्ग, प्रकृति ट्रेल्स आदि का लाभ ले रहे हैं।

Wildlife in Uttar Pradesh is synonymous with Dudhwa Tiger Reserve, but in fact, the state has a lot more to offer to enthusiasts and tourists alike! There are several parks and sanctuaries here that are home to a variety of species, extinct in other parts of Northern India, such as, the endangered Bengal Florikin and the successfully reintroduced, One-horned Rhinoceros. The splendid and vast hinterlands of the state are alive with exceptionally diverse wildlife, waiting, to be discovered. So rich is the population of the avifauna here that the birds not only flock around the lakes and water-bodies, but also in the agricultural fields of the various parts of the state.